NATO और पुतिन के बीच टकराव तेज, क्‍यों चिंतित हुए पश्चिमी देश

रूसी राष्‍ट्रपति पुतिन ने पास इस जंग में अब सीमित विकल्‍प बचे हैं। ऐसे में यह आंशका प्रबल हो गई है कि क्‍या रूस रूसी सेना को परमाणु हमले का आदेश दे सकते हैं। अगर परमाणु हमला हुआ तो इसके क्‍या परिणाम होंगे।

Jagran
post by Priti Singh | 3:24pm on 4th Oct 2022 Tuesday
#World

यूक्रेन जंग अब एक नए मोड़ पर पहुंच गई है। इस टकराव का सीधा असर अब पश्चिमी देशों पर पड़ रहा है। यही कारण है कि यूक्रेन जंग में नाटो संगठन भी सक्रिय हो गया है। उधर, रूसी राष्‍ट्रपति पुतिन ने पास इस जंग में अब सीमित विकल्‍प बचे हैं। ऐसे में यह आशंका प्रबल हो गई है कि क्‍या राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन रूसी सेना को परमाणु हमले का आदेश दे सकते हैं। अगर परमाणु हमला हुआ तो इसके क्‍या परिणाम होंगे। इसका अमेरिका समेत पश्चिमी देशों पर क्‍या असर होगा। इस मामले में विशेषज्ञों की क्‍या राय है।